FACEBOOK page of THANA

FACEBOOK page of THANA

शुक्रवार, 26 मई 2017

आईजी के दिशा निर्देश पर मिली सूरजपुर पुलिस को बड़ी सफलता




* सूरजपुर विकास ज्वेलर्स में हुई उठाईगिरी के अंतर्राज्यीय गिरोह का मुख्य सरगना सहित दो गिरफ्तार
* चोरी की पूरी सम्पत्ति 25 लाख 50 हजार का माल बरामद
* टीम के प्रोत्साहन के लिए आईजी द्वारा 50 हजार रूपये  के नगद पुरस्कार की घोषणा 

सूरजपुर। पिछले सप्ताह 18 मई को नगर के विकास ज्वेलर्स के यहां हुई चोरी के मामले में सूरजपुर पुलिस को सफलता प्राप्त हुई है। 18 मई को भैयाथान रोड मंदिरपारा सूरजपुर निवासी विकास कुमार पिता सुरेन्द्र कुमार सोनी ने थाना सूरजपुर में रिपोर्ट दर्ज कराई कि सुबह 10 बजे अपने निवास से प्रतिदिन की भांति अपने दुकान आया। चेन से बंद एक सफेद रंग के झोले में जिसमें 25 लाख 50 हजार रूपये मूल्य के सोने चांदी के जेवर व सामान भरे हुए थे व नगद राशि लगभग 45 हजार रखी हुई थी लेकर आया। मुख्य शटर खोलकर झोले को काउंटर के अंदर फर्श पर रखकर बगल वाले शटर को खोलने गया उसी दौरान एक अज्ञात चोर द्वारा प्रार्थी के दुकान के अंदर घुसकर काउंटर से उक्त सोने, चांदी के जेवर सामान व नगदी से भरे झोला को चोरी कर ले गया। विकास सोनी की रिपोर्ट पर थाना सूरजपुर में अपराध क्र. 213/17 धारा 454, 380, 34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध किया गया।
             दिन दहाड़े शहर के मध्य हुए इस घटना की सूचना मिलते ही सूरजपुर थाने की टीम व स्पेशल पुलिस टीम घटना स्थल पहुंच कर मामले की विवेचना प्रारंभ कर दी। मामले की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आर.पी.साय द्वारा घटना की जानकारी पुलिस महानिरीक्षक को देते हुए अज्ञात आरोपियों व चोरी हुई सम्पत्ति के पता तलाश के लिए नगर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर डी. के. सिंह के नेतृत्व में एक पुलिस टीम का गठन किया व अग्रिम कार्यवाही के लिए दिशा निर्देश दिये। इसी बीच 19 मई को अम्बिकापुर के इमलीपारा गली स्थित मनीष सोनी की जय मां शारदा ज्वेलरी की दुकान के सामने गंदगी फैलाकर घटना कारित करने का प्रयास किया गया था जिसकी सूचना मिलने पर सूरजपुर की स्पेशल टीम द्वारा जाकर घटना स्थल का मौका मुआयना करने पर पाया गया कि घटना के तरीके में समानता व पेशेवर तरीके को देखते पाया गया कि यह एक ही गिरोह का काम है।
                  इस घटना के बाद संभाग में अंतर्राज्यीय गिरोह के सक्रिय होने की आशंका से रेंज पुलिस महानिरीक्षक श्री हिमांशु गुप्ता के दिशा निर्देशन पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सूरजपुर आर.पी. साय, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सरगुजा आर.एस.नायक एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एस.आर. भगत के मार्गदर्शन में नगर पुलिस अधीक्षक डी.के. सिंह के नेतृत्व में अम्बिकापुर क्राईम ब्रांच, स्पेशल पुलिस टीम सूरजपुर, कोतवाली सूरजपुर की पुलिस टीम, जिला बलरामपुर एवं जिला जशपुर की पुलिस टीम के द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में पूर्व में हुए इसी तरह की घटनाओं के तथ्यों व संदेहियों के संबंध में लगातार बारीकी से विवेचना एवं सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए पता तलाश की कार्यवाही की गई। इस दौरान जानकारी मिली की थाना-कुसमी जिला बलरामपुर के अपराध क्र. 30/17, धारा 398, 420, 511 भादवि व 25 आम्र्स एक्ट के फरार आरोपी विजय प्रधान, राकेश प्रधान दोनों निवासी ग्राम पूर्वोकोट, थाना-कोरेई जिला-जाजपुर ओडिशा का पतासाजी करते हुए सीसीटीवी फुटेज से प्राप्त फोटो का मिलान करने पर पाया गया कि सूरजपुर की घटना में भी यही लोग संलिप्त थे। इन लोगों का पता तलाश सभी पुलिस टीम द्वारा सरगर्मी से किया जा रहा था तभी मुखबिर द्वारा सूचना मिली की संदेहियों को जयनगर थाना क्षेत्र के ग्राम ठाकुरपुर स्थित बाजार के पास देखा गया है। सूचना मिलते ही अम्बिकापुर क्राईम ब्रांच व सूरजपुर पुलिस टीम के द्वारा घेराबंदी कर एक बजाज पल्सर मोटर सायकल सहित आरोपी विजय प्रधान, पिता जेलगा उम्र 19 वर्ष निवासी दशमड़या थाना कोरेई जिला जाजपुर ओडिशा को पकड़ा गया इसका दूसरा साथी राकेश प्रधान पिता सारंग प्रधान भीड़भाड़ का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गया। विजय प्रधान से बारीकी से पूछताछ करने पर बताया कि वे किराए का मकान लेकर ठाकुरपारा में रहकर अलग-अलग क्षेत्र में हाईस्पीड मोटर सायकल रखकर ज्वेलरी दुकानों का रेकी कर घटना को अपने साथियों के साथ अंजाम देना बताया। जो उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखण्ड, ओडिशा, आंध्रप्रदेश एवं छततीसगढ़ में पिछले कई वर्षों से निचली बस्तियों में झुग्गी झोपड़ी में किराए के मकान में फर्जी पहचान पत्र देकर परिवार सहित निवास कर आसपास के 40-50 किलोमीटर के दायरे में हाईस्पीड मोटर सायकल का उपयोग कर घूम-घूम कर क्षेत्र में स्थित शहर एवं कस्बों में सोने चांदी के दुकानों की रेकी कर दुकान के सामने गंदगी फैलाकर, ताले में ग्रीस व फेविक्विक लगाकर दुकानदार का ध्यान भटकाकर भारी मात्रा में आभूषणों की उठाईगिरी करते थे। इनका मुखिया भीमो प्रधान पिता सुको प्रधान उम्र 48 वर्ष निवासी पूर्वोकोट थाना कोरेई जिला जाजपुर ओडिशा द्वारा संपूर्ण वारदात को योजनाबद्ध तरीके से अंजाम दिया जाता था और चोरी के जेवरों को ओडिशा के साप्ताहिक बाजारों में टुकड़ो में बेचा जाता था।
         मुख्य आरोपी भीमो प्रधान को किराये के मकान ठाकुरपुर से अपाचे मोटरसायकल सहित पुलिस टीम के द्वारा पकड़ा गया जिनसे पूछताछ करने पर संपूर्ण घटना को अपने साथियों विजय प्रधान, राकेश प्रधान, शंकर प्रधान के साथ मिलकर अपाचे एवं पल्सर मोटरसायकल से इस घटना को अंजाम देना एवं तत्काल दूसरे दिन आरोपी शंकर प्रधान के हाथ विकास ज्वेलर्स से उठाईगिरी किये हुए संपूर्ण सोने चांदी के जेवरों को अपने मूल निवास ओडिशा भेजकर छिपाना बताया।
          तत्पश्चात एसएसपी श्री आर.पी.साय द्वारा पुलिस महानिरीक्षक श्री हिमांशु गुप्ता को इस बाबत जानकारी दी गई। पुलिस महानिरीक्षक श्री हिमांशु गुप्ता के निर्देश पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आर.पी. साय द्वारा सीएसपी डी.के. सिंह के नेतृत्व में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अनूप एक्का, एसआई सुनीता भारद्वाज, बलरामपुर एसआई राजेन्द्र साहू, स्पेशल पुलिस टीम प्रभारी सरफराज फिरदौसी, पत्थलगांव एसआई अशोक पाण्डेय, एएसआई राजेश प्रताप सिंह, प्रधान आरक्षक वरूण तिवारी, प्रधान आरक्षक चालक अजय सिंह, आरक्षक सतेन्द्र दुबे, महेन्द्र प्रताप सिंह, विकास पटेल, रिंकू गुप्ता, महिला सैनिक बीना सिंह की टीम गठित कर ओडिशा राज्य रवाना किया गया। टीम द्वारा ओडिशा जाकर नक्सल प्रभावित क्षेत्र ग्राम पूर्वोकोट में आरोपियों के निशानदेही पर अभ्यस्त आरोपी गिरोह के निवास पर रेड कार्यवाही कर भीमो प्रधान के मकान के पीछे स्थित बाड़ी में जमीन में गाड़कर रखना पाया गया जो विधिवत बरामद करने पर प्रार्थी के चोरी गये समस्त सोने चांदी के जेवरात अपने मूलरूप में जप्त किया गया जिसकी कीमत 25 लाख 50 हजार रूपये है।
पकड़े गये आरोपियों से सघन पूछताछ जारी है जो इस तरह के पूर्व में कुनकुरी एवं पत्थलगांव में घटना घटित हो चुकी है जिसके संबंध में महत्वपूर्ण सुराग मिले है जिससे कई मामलों का खुलासा होने की पूर्ण संभावना है। इस तरह सूरजपुर नगर में दिन दहाड़े हुये करीब 26 लाख रूपये के सोने चांदी के जेवर की उठाईगिरी हुये पूरे सामग्री को सम्पूर्ण मूल स्वरूप में तत्काल एक कुख्यात अंतर्राज्जीय गिरोह के मुख्य सरगना सहित कुल दो आरोपी 1. भीमो प्रधान पिता सूको प्रधान उम्र 45 वर्ष निवासी पूर्वोकोट, थाना कोरई, जिला जाजपुर ओडिशा एवं 2. विजय प्रधान पिजा जेलगा प्रधान उम्र 19 वर्ष साकिन दशमड़या, थाना कोरई, जिला जाजपुर ओडिशा के कब्जे से सोने एवं चांदी के जेवर व नगदी रकम 8 हजार एवं मोटर सायकल अपाचे एवं प्लसर, 2 नग मोबाईल फोन अलग-अलग जप्त करते हुये गिरफ्तार किया गया है एवं अन्य 2 फरार आरोपियों की पता तलाश सरगर्मी से जारी है। इस सफलता को देखते हुये पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज सरगुजा श्री हिमान्शु गुप्ता के द्वारा पुलिस टीम को 50 हजार रूपये नगद का पुरस्कार देने की घोषणा की है एवं प्रकरण के प्रार्थी विकास कुमार सोनी के द्वारा पुलिस की तत्परतापूर्वक कार्यवाही कर ओडिशा राज्य से सम्पूर्ण सम्पत्ति बरामदगी करने एवं आरोपियों को पकड़ने पर 51 हजार रूपये नगद का ईनाम देने की घोषणा की गई है। 
                इस ऐतिहासिक सफलतम कार्यवाही में सीएसपी सूरजपुर डी.के.सिंह, थाना प्रभारी सूरजपुर अनूप एक्का, एसआई सुनीता भारद्वाज, साईबर सेल प्रभारी निलाम्बर मिश्रा, स्पेशल पुलिस टीम प्रभारी सूरजपुर सरफराज फिरदौसी, एएसआई राजेश प्रताप सिंह, सुनील सिंह, प्रधान आरक्षक वरूण तिवारी, अभिषेक पाण्डेय, बिसुनदेव पैकरा, आनंद सिंह, राहुल गुप्ता, प्रधान आरक्षक चालक अजय सिंह, आरक्षक सतेन्द्र दुबे, महेन्द्र प्रताप सिंह, विकास पटेल, दिलीप सिंह, दिने श ठाकुर, कृष्णकांत पाण्डेय, सीताराम पैकरा, जगत पैकरा, श्याम सिंह, सुरे श तिवारी, महिला आरक्षक प्रमिला आडिल्य, चन्द्रकान्ता मुजंनी, महिला सैनिक बीना सिंह, क्राईम ब्रांच अम्बिकापुर के प्रभारी एएसआई भुपेश सिंह, विनय सिंह, प्रधान आरक्षक धीरज गुप्ता, आरक्षक उपेन्द्र सिंह, विकास सिंह, राकेश शर्मा, जितेश साहू, मनीष यादव, अमित वि श्व कर्र्मा, बृजेश राय, दशरथ राजवाड़े, संजय एक्का, बलरामपुर एसआई राजेन्द्र साहू, आरक्षक रिंकू गुप्ता, ज श पुर क्राईम ब्रांच प्रभारी जितेन्द्र पटेल, प्रधान आरक्षक मनोज सिंह, आरक्षक रत्नेश, पत्थलगांव एसआई अशो क पाण्डेय, वंश नारायण शर्मा, एएसआई नसरूद्दीन एवं अन्य आरक्षकगण सक्रिय रहे।

पुलिस थाना भटगांव क्षेत्र के शासकीय अधिकारियों/कर्मचारियों की समन्वय बैठक हुई




सूरजपुर । गत 24 मई को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सूरजपुर आर.पी.साय के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एस.आर.भगत के मार्गदशर्न में सामुदायिक पुलिसिंग को बढावा देने के उद्देश्य से थाना भटगांव के मिटिंग हॉल में पुलिस मित्र अभियान के अन्तर्गत थाना क्षेत्र के समस्त विभागों के शासकीय अधिकारी/कर्मचारियों एवं अन्य गणमान्य नागरिकों के उपस्थिति में समन्वय बैठक ली गई जिसमें थाना भटगांव पुलिस स्टाफ के साथ नगर पंचायत विभाग, स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग, शिक्षा विभाग, वन विभाग, बैंकिंग के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित आये। बैठक में उपस्थित नगर पंचायत भटगांव के सीएमओ ज्ञानपुंज कुलमित्र, पीएचसी सलका के डॉ0 ए0के0 शर्मा, भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक विभाष कुमार, प्राचार्य लालचंद सिंह, रूपनारायण सिंह पैकरा, गोवर्धन सिंह, मण्डल महामंत्री भाजपा अशोक सिंह एवं अन्य उपस्थित आये। जिनके समक्ष विभागीय कर्तव्य के निर्वहन में आने वाले व्यवहारिक कठिनाईयों को मिलजुल कर सुलझाकर कार्य करने एवं मद्द की भावना से कार्य करने की चर्चा कर समाज में बच्चों/बालिकाओं/महिलाओं एवं अन्य सम्पत्ति व शरीर संबंधी अपराधों से बचाव करने की पुलिस के द्वारा अपील की गई, तत्पश्चात थाना क्षेत्र के शासकीय हायर सेकेण्ड्री स्कूल बालक एवं कन्या भटगांव, सेन्ट चाल्र्स हायर सेकेण्डरी मिशन स्कूल भटगांव, ए0डी0 जुबली मेमोरियल स्कूल भटगांव, सरस्वती शिशु मंदिर जरही, शासकीय हायर सेकेण्ड्री स्कूल बालक एवं कन्या जरही, सोनगरा, सलका, अनरोखा एवं शासकीय हाई स्कूल सोनगरा, बुंदिया, लक्ष्मीपुर, चुनगडी, विद्यालय के हाईस्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा एवं हायर सेकेण्डरी सर्टिफिकेट परीक्षा 20162017 में अपने विद्यालय में सर्वाधिक अंक अर्जित कर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले 36 छात्र/छात्राओं के उत्साहवर्धन हेतु प्रशस्ति पत्र एवं पुरस्कार देकर बैठक में उपस्थित शिक्षक, शिक्षिकाओं, जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिकों, महिलाओं, पुरूषो, पत्रकारों, नगर पंचायत अधिकारी, चिकित्सा विभाग, बिजली विभाग, वन विभाग एवं भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक के समक्ष सम्मानित किया गया तथा सम्मान समारोह पश्चात छात्र/छात्राओं एवं सम्मानित अतिथियों को स्वल्पाहार कराया जाकर बैठक स्थगित किया गया। 

मंगलवार, 23 मई 2017

सूरजपुर जिले के दो प्रधान आरक्षक एवं तीन आरक्षक हुये पदोन्नत



सूरजपुर। जिला सूरजपुर में कार्यरत् प्रधान आरक्षक जीवननाथ गिरी एवं श्रीमती मंजू सिंह एसआई पद पर एवं आरक्षक शत्रुघन सिंह, आनंद सिंह एवं अजय पाण्डेय प्रधान आरक्षक के पद पर पदोन्नत हुए। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सूरजपुर आर.पी.साय व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एस.आर.भगत के द्वारा आज इन्हें स्टार एवं फीता लगाया गया। इस दौरान मुख्य लिपिक संतोष वर्मा, रक्षित निरीक्षक रामप्रसाद पैकरा, स्टेनो पुष्पेन्द्र शर्मा, एसआरसी आनंद राम पैकरा, सुनील वर्मा एवं दशरथ पैकरा उपस्थित रहे।

सफलता : हत्या के मामले का खुलासा, 3 आरोपी गिरफ्तार


सूरजपुर। गत् 17 मई को ग्राम कुम्पा निवासी जगमोहन सिंह ने थाना ओड़गी में सूचना दी कि इसके घर के पास स्थित कुआं में एक महिला मृत अवस्था में पड़ी हुई है। सूचना पर थाना ओड़गी में मर्ग क्रमांक 6/17 कायम कर पुलिस टीम घटना स्थल पर पहुंचकर कुआं से महिला की लाश निकलवाये जाने पर उसकी शिनान ख्त ग्राम कुप्पा निवासी 60 वर्षीय मुनिया सिंह पति बलसाय के रूप में हुई। महिला की लाश निकालने पर उसके उसकी साड़ी में पत्थर बंधा हुआ मिला जो मामला प्रथम दृष्टया हत्या का होना प्रतीत होने पर थाना ओड़गी में अज्ञात व्यक्ति के विरूद्ध अपराध क्रमांक 29/17 धारा 302, 201 भादवि का अपराध पंजीबद्ध किया गया एवं इसकी जानकारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सूरजपुर आर.पी.साय को दी गई जिनके द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एस.आर.भगत एवं एसडीओपी ओड़गी जे.एल.लकड़ा के नेतृत्व में थाना प्रभारी ओड़गी को गंभीरता पूर्वक मामले की जांच कर आरोपियों की पतासाजी कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिये। 
जांच के दौराथाना प्रभारी ओड़गी अजरूद्दीन को जानकारी मिली कि मृतका मुनिया सिंह का जमीन संबंधी विवाद उसके देवर बैजनाथ सिंह एवं उसका लड़का भुनेश्वर सिंह से चल रहा था। पुलिस ने संदेह के आधार पर दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ किया। पूछताछ के दौरान भुनेश्वर सिंह ने बताया कि दिनांक 14/05/17 के रात्रि करीब 11 बजे वह अपने दोस्त धनन्जय सिंह, प्रताप सिंह एवं बालम सिंह के साथ मिलकर मुनिया के घर जाकर मुनिया का गला दबाकर हत्या कर दिये और शव को छुपाने के नियत से मुनिया के साड़ी में पत्थर बांधकर कुआं में डाल दिये ताकि शव ऊपर न आ सके। तीनों आरोपियों के विरूद्व हत्या करने का अपराध सबूत पाये जाने पर ग्राम कुम्पा निवासी 30 वर्षीय भुनेश्वर सिंह पिता बैजनाथ, 19 वर्षीय धनन्जय सिंह पिता रामाधीन एवं 25 वर्षीय प्रताप सिंह पिता दखल सिंह को गिरफ्तार किया गया है। जिन्हें न्यायालय में पेश किया जायेगा। वहीं इस मामले के चौथे आरोपी बालम सिंह पिता देवराम फरार है जिसकी पतासाजी पुलिस टीम के द्वारा की जा रही है। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी ओड़गी अजरूद्दीन, एएसआई क्लेमेंट तिर्की, प्रधान आरक्षक लवकुष राजवाड़े, बहादूर सिंह, आरक्षक राजीव तिवारी, खेलसाय राजवाड़े, जगमोहन बेक एवं संतोष कंवर, नगर सैनिक रमेश सारथी सक्रिय रहे।

दुर्घटनाएं रोकने शहर में भारी वाहनों के प्रवेश का समय निर्धारित

सूरजपुर। कलेक्टर सूरजपुर के.सी.देव सेनापति ने गत् दिवस नगर में भारी वाहनों के शहर में प्रवेश प्रतिबंधित करने के आदेश जारी कर दिये हैं। जिला सूरजपुर में नगरीय क्षेत्र सूरजपुर में सघन आबादी एवं भीड़-भाड़ होने से अम्बिकापुर-मनेन्द्रगढ़ मुख्य मार्ग एवं भैयाथान मार्ग नगर के मध्यभाग से गुजरने के कारण आये दिन दुर्घटना की संभावना एवं जाम की स्थिति बनी रहती है जिसे देखते हुये नगर के बाहरी सीमा में दोनों तरफ बायपास सड़क का निर्माण किया गया है। नगर की स्थिति को संतुलित बनाये रखने हेतु प्रातः 9 बजे से रात्रि 9 बजे तक नगर में भारी वाहनों के प्रवेश को कलेक्टर सूरजपुर ने प्रतिबंधित किया गया है। उक्त समयानुसार भारी वाहन बायपास सड़क से आवागमन करेगी। कलेक्टर सूरजपुर के द्वारा इस आदेश को जारी करने के बाद बायपास रोड पर यातायात के आरक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है ताकि भारी वाहन शहर के भीतर प्रवेश न करें और उन्हें बायपास रोड़ में डायवर्ट किया जा सके।